विश्व के सात महाद्वीप | Seven Continents of the World

महाद्वीप (Continent) –

महाद्वीप धरती की ऐसी संरचना को कहते हैं, जो समुद्र तल से निश्चित ऊँचाई तक उठी हुई तथा क्रमबद्ध विस्तृत भू-भाग होती है। यह पृथ्वी पर समुद्र से अलग दिखाई देती है। समुद्र के लगभग 600 फुट अन्दर तक के महाद्वीपीय मग्नतटों तथा मग्नढालों को भी महाद्वीपों के अंतर्गत रखा जाता है। धरती के बहुत बड़े विस्तृत भू-भाग जिसकी सीमायें स्पष्ट पहचानी जा सकें, को महाद्वीप कहते हैं। विश्व में सात महाद्वीप हैं। जोकि निम्न हैं –
1. एशिया ( Asia )
2. अफ्रीका ( Africa )
3. उत्तरी अमेरिका ( North America )
4. दक्षिणी अमेरिका ( South America )
5. अंटार्कटिका ( Antarctica )
6. यूरोप ( Europe )
7. ऑस्ट्रेलिया ( Australia )

एशिया महाद्वीप –

एशिया विश्व के सात महाद्वीपों में से सबसे बड़ा महाद्वीप है एवं सारे धर्मों की जन्मभूमि है। विश्व में सर्वाधिक आबादी वाले दो देश चीन और भारत इसी महाद्वीप पर अवस्थित हैं। यह क्षेत्रफल और जनसंख्या दोनो ही दृष्टि से पृथ्वी का सबसे बड़ा महाद्वीप है। अधिकतर प्राचीन सभ्यतायें एशिया महाद्वीप की नदियों के किनारे विकसित हुई, इसी कारण इन नदियों को सभ्यता का पालना कहा जाता है।
➥ एशिया सबसे बड़ा महाद्वीप है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 29.50% है।
➥ एशिया का सबसे बड़ा देश चीन है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश मालद्वीप है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी यांगटिसीक्यांग है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट एवरेस्ट (8848 मी) है।
➥ इस महाद्वीप पर कुल 48 देश हैं।
➥ एशिया महाद्वीप की सबसे बड़ी झील कैस्पियसन सागर है।
➥ एशिया महाद्वीप का सबसे गहरा बिन्दु मृतसागर (395 मी) है।
➥ यह विश्व के कुल स्थल क्षेत्र के 1/3 भाग पर स्थित है।
➥ यहां की 3/4 जनसख्या अपने भरण-पोषण के लिए कृषि पर निर्भर है।
➥ एशिया चावल, मक्का, जूट, कपास, सिल्क इत्यादि के उत्पादन के मामले में पहले स्थान पर है।

अफ्रीका महाद्वीप –

अफ्रीका विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है। यहाँ पर लगभग सारी प्राचीनतम एवं नवीनतम संस्कृतियाँ मिल जाती हैं। इसके पूरब में हिन्द महासागर और पश्चिम में अटलांटिक महासागर अवस्थित है। जिब्राल्टर जलसंधि इसे यूरोप से अलग करती है। यह पृथ्वी का एकमात्र महाद्वीप है जिससे होकर ग्लोब की तीनों प्रमुख रेखाएं (कर्क,मकर, विषुवत) गुजरती हैं। विश्व की सबसे लम्बी नदी नील इसी महाद्वीप पर बहती है। यह विक्टोरिया झील से निकलकर भूमध्यसागर में गिरती है। विश्व का सबसे बड़ा मरुस्थल सहारा इसी महाद्वीप पर अवस्थित है।
➥ अफ्रीका दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 20.20% है।
➥ अफ्रीका का सबसे बड़ा देश अल्जीरिया है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश मेओटी है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी नील है।
➥ अफ्रीका महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट किलीमंजारो (5895 मी) है।
➥ अफ्रीका महाद्वीप की सबसे बड़ी झील विक्टोरिया है।
➥ इस महाद्वीप पर कुल 54 देश हैं।
➥ इस महाद्वीप का सबसे गहरा बिन्दु असाई झील (156 मी) है।
➥ अफ्रीका का 1/3 हिस्सा मरुस्थल है।
➥ यहां की मात्र 10% भूमि ही कृषि योग्य है।
➥ हीरे व सोने के उत्पादन में अफ्रीका सबसे ऊपर है।

उत्तरी अमेरिका महाद्वीप –

उत्तरी अमेरिका विश्व का तीसरा बड़ा महाद्वीप है, इसका क्षेत्रफल 2,42,55,000 वर्ग किलोमीटर है। इसे नई दुनिया की संज्ञा दी जाती है। उत्तरी अमेरिका की खोज 1492 ई. में कोलंबस ने की थी। इसका नाम अमेरिगो वेसपुस्सी नामक साहसी यात्री के नाम पर अमेरिका पड़ा। इसके दक्षिणी भाग में अनेक द्वीप हैं जिन्हें पश्चिमी द्वीपसमूह या वेस्टइंडीज के नाम से जाना जाता है। उत्तरी अमेरिका मध्यअमेरिका व कैरेबियाई क्षेत्र में कुल 29 देश हैं। 100 डिग्री पश्चिमी देशांतर रेखा उत्तरी अमेरिका के मध्य से होकर गुजरती है। यह विश्व के सात महाद्वीप में से एक है।
➥ यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 16.05% है।
➥ उत्तरी अमेरिका का सबसे बड़ा देश कनाडा है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश सेण्ट पीरे है।÷
➥ इस महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी मिसीसिपी मिसौ है।
➥ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट माउंट मैकिल्ले (6194 मी) है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे बड़ी झील सुपीरियर है।
➥ उत्तरी अमेरिका महाद्वीप का सबसे गहरा बिन्दु डैथ वैली  (86 मी) है।
➥ यह दुनिया के 16% भाग पर स्थित है।
➥ इस महाद्वीप पर कुल 23 देश हैं।
➥ कषीय संसाधनों की दृष्टिकोण से यह काफ़ी धनी क्षेत्र है।
➥ विश्व के कुल मक्का उत्पादन का आधा उत्पादन यहीं होता है।
➥ वन, खनिज व ऊर्जा संसाधनों के दृष्टिकोण से यह काफ़ी समृद्ध क्षेत्र है।

दक्षिण अमेरिका का क्षेत्रीय भूगोल –

यह प्रशांत व अटलांटिक महासागर के बीच अवस्थित है। पनामा जलसंधि इसे उत्तरी अमेरिका महाद्वीप से अलग करती है। टेराडेल फ्लूगो नामक द्वीप इस महाद्वीप के दक्षिण में स्थित है। यह द्वीप मैगलन जलसंथि द्वारा दक्षिण अमेरिका महाद्वीप की मुख्य भूमि से अलग होता है। हॉर्न अन्तरीप इस महाद्वीप का दक्षिणतम बिन्दु है। ब्राजील इस महाद्वीप का सबसे बड़ा देश है। ब्राजील की अंतर्राष्ट्रीय सीमा इक्वाडोर व चिली को छोड़कर इस महाद्वीप के अन्य सभी देशों से लगती है। इस महाद्वीप के तीन देश कोलम्बिया, ब्राजील व इक्वाडोर भूमध्यरेखा पर अवस्थित हैं। पेरु-बोबीविया सीमा पर अवस्थित टिटिकाका झील विश्व की सबसे ऊँची नौकायन झील है। यह बोलीविया पठार पर अवस्थित है। अपवाह क्षेत्र की दृष्टि से विश्व की सबसे बड़ी नदी अमेजन इसी महाद्वीप पर बहती है। अमेजन नदी ब्राजील, पेरु, इक्वाडोर, बोलीविया, कोलंबिया, वेनेजुएला में बहती है।
➥ यह दुनिया का चौथा सबसे बड़ा महाद्वीप है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 11.80% है।
➥ दक्षिण अमेरिका का सबसे बड़ा देश ब्राजील है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश फॉकलैंड द्वीप है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी अमेजन है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट एन्काकागुआ (6906 मी) है।
➥ दक्षिण अमेरिका महाद्वीप का सबसे गहरा बिन्दु बाल्डस प्रायद्वीप (40 मी) है।
➥ इस महाद्वीप का 2/3 हिस्सा विषुवत रेखा के दक्षिण में स्थित है।
➥ इसके बहुत बड़े हिस्से में वन हैं

अंटार्कटिका महाद्वीप –

अंटार्कटिका विश्व के सात महाद्वीप में पाँचवां बड़ा महाद्वीप है। इसे महासागरीय महाद्वीप की संज्ञा दी गई है। यह पूर्ण रूप से दक्षिणी गोलार्द्ध में अवस्थित है। इस महाद्वीप का 98 प्रतिशत भाग सदैव बर्फ से ढका रहता है। पूर्णतः हिमाच्छादित रहने के कारण इसे श्वेत महाद्वीप कहते हैं। इस महाद्वीप की खोज का करने का प्रथम प्रयास एक नाविक जेम्स कुक  द्वारा किया गया था। पर वो अंटार्कटिक वृत्त को पार करके भी इसकी भूमि तक नहीं पहुँच पाए थे। इस महाद्वीप की मुख्य भूमि की खोज का श्रेय फेबियन वेलिंग शॉसेन को है। वह 1820 ई. में वोस्टॉक नामक जहाज से अंटार्कटिका महाद्वीप पर पहुँचे थे। अंटार्कटिका से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य नीचे दिए गए हैं –
➥ यह विश्व का पांचवा सबसे बड़ा महाद्वीप है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 9.60% है
➥ इस महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत विंसन मौसिफ़ है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे गहरा बिन्दु बेन्द्रल बैंच (2853 मी) है।
➥ यह पूरी तरह दक्षिणी गोलार्द्ध में स्थित है और दक्षिण ध्रुव इसके मध्य में स्थित है।➥ इस महाद्वीप का 99% हिस्सा वर्षपर्यन्त बर्फ़ से ढंका रहता है।
➥ यहां की भूमि पूरी तरह बंजर है।

यूरोप महाद्वीप –

यूरोप महाद्वीप उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे छोटा महाद्वीप है तथा विश्व का छठा बड़ा महाद्वीप है। इसे प्रायद्वीपों का प्रायद्वीप या यूरेशिया का प्रायद्वीप कहते हैं। यूरोप तथा एशिया के सम्मिलित भू-भाग को यूरेशिया कहते हैं। यूरोप से सम्बन्धित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य नीचे दिए गए हैं –
➥ यरोप एकमात्र ऐसा महाद्वीप है जहां जनसंख्या घनत्व अधिक होने के साथ-साथ समृद्धता भी है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 6.50% है।
➥ इस महाद्वीप पर कुल 50 देश हैं।
➥ यरोप का सबसे बड़ा देश रूस है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी वोल्गा है।
➥ यरोप महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट एल्ब्रुस है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे बड़ी झील लैडोगा है।
➥ यहां वन, खनिज, उपजाऊ मिट्टी व जल बहुतायत में है।
➥ यरोप के महत्त्वपूर्ण खनिज संसाधन कोयला, लौह अयस्क, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस है।

ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप –

ऑस्ट्रेलिया विश्व का सबसे छोटा महाद्वीप है। अतः इसे द्वीपीय महाद्वीप भी कहते हैं। इसकी खोज सन् 1770 ई. में जेम्स कुक ने की। यह महाद्वीप पूर्णतः दक्षिणी गोलार्द्ध में स्थित है। मकर रेखा इसके मध्य से गुजरती है। इस महाद्वीप के क्षेत्र में कुल 23 देश आते हैं। यहाँ के मूल निवासियों को एबोर्जिन्स कहा जाता है। टॉरेस जलसंधि न्यूगिनी को आस्ट्रेलिया से अलग करती है।
➥ ऑस्ट्रेलिया एकमात्र देश है जो सम्पूर्ण महाद्वीप पर स्थित है।
➥ इस महाद्वीप का कुल क्षेत्रफल 5.03% है।
➥ ऑस्ट्रेलिया का सबसे बड़ा देश ऑस्ट्रेलिया है।
➥ इस महाद्वीप का सबसे छोटा देश नौरु है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे लम्बी नदी मर्रे-डार्लिंग है।
➥ ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप का सबसे ऊँचा पर्वत माउंट कोस्यूूस्को है।
➥ इस महाद्वीप की सबसे बड़ी झील आयर है।
➥ ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप का सबसे गहरा बिन्दु आयर झील  (16 मी) है।
➥ यह देश पादपों, वन्यजीवों व खनिजों के मामल में समृद्ध है लेकिन जल की यहां काफ़ी कमी है।

Leave a Comment