हरियाणा में प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य Wildlife Sanctuary and National Park in Haryana

हरियाणा
में प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य


राष्ट्रीय उद्यान

सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान-:

·
सुल्तानपुर राष्ट्रीय
उद्यान हरियाणा के गुरुग्राम जिले के सुल्तानपुर में स्थित है।

·
यह पहले पक्षी अभयारण्य
था
, जिसे वर्ष 1989 में राष्ट्रीय पार्क बनाया गया।

·
यह उद्यान प्रवासी
पक्षियों के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ शीत ऋतु में प्रतिवर्ष सैकड़ों पक्षी प्रवास
करते हैं
, जिनमें साइबेरियन सारस
प्रमुख हैं।

·
इसका क्षेत्रफल 1.43 वर्ग किमी है।

कलेसर राष्ट्रीय उद्यान-:

·
हरियाणा के यमुनानगर जिले
में स्थित यह अभयारण्य पर्यटकों के आकर्षण का
केन्द्र है।

·
यह 11570 एकड़ भूमि पर विस्तृत है। यहाँ साम्भर,
चीतल भौकने वाले हिरण, नीलगाय आदि जानवर पाए जाते हैं। यह हरियाणा का सबसे बड़ा
अभयारण्य है।

·
वर्ष 2003 में इसे राष्ट्रीय पार्क घोषित कर दिया गया
है।

वन्यजीव अभयारण्य

सरस्वती वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह हरियाणा के कैथल जिले
में स्थित है। यह
4452.85  हेक्टेयर में फैला हुआ है।

·
सरस्वती बागान को 29
जुलाई, 1988 को सरस्वती वन्यजीव अभयारण्य के रूप में अधिसूचित किया गया
था। यह सोनसर जंगल के नाम से भी प्रसिद्ध है।

नाहर वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह वन्यजीव अभयारण्य
हरियाणा के रेवाड़ी जिले में अवस्थित है।

·
इसमें सियार, लोमड़ी, काले हिरण रहते हैं। पर्यावरण की दृष्टि से इस अभयारण्य को
जून
, 2009 में संवेदनशील क्षेत्र
घोषित किया गया।

अबुबशहर वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह वन्यजीव अभयारण्य हरियाणा के सिरसा जिले में स्थित है।

·
इसका विस्तार क्षेत्र 11530.56 हेक्टेयर है।

भिण्डावास वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह अभयारण्य हरियाणा के
झज्जर जिले में स्थित है। इसका क्षेत्रफल
1074 एकड़ है।

·
यह अभयारण्य अपनी सुन्दर
झील के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ पक्षियों की लगभग
250 प्रजातियाँ पाई जाती हैं।

·
यह भूरे हंस, बत्तख, लाल बुलबुल, किंगफिशर आदि के लिए
प्रसिद्ध है। भारत
सरकार ने इसे 3 जून, 2009 को पक्षी अभयारण्य के रूप में स्थापित किया।

खापड़वास वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह झज्जर जिले में
भिण्डावास वन्यजीव से मात्र
1.5 किमी की दूरी पर स्थित
है।

·
यह वन्यजीव अभयारण्य
प्रवासी पक्षियों के विभिन्न प्रकारों के लिए प्रसिद्ध है।

·
पर्यावरण एवं प्रदूषण के
दृष्टिकोण से यह संवेदनशील क्षेत्र के अन्तर्गत आता है।

·
यह अभयारण्य 204.36 एकड़ में विस्तृत है। वर्ष 1991 में इसे मान्यता प्रदान की गई।

बीर शिकारगढ़ वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह अभयारण्य हरियाणा के
पंचकुला जिले में स्थित है।

·
इसे वर्ष 1975 में अभयारण्य बनाया गया। यहाँ साम्भर, चीतल, नीलगाय आदि जानवर पाए जाते हैं।

·
यह वनस्पतियों, जन्तुओं की विविधता के लिए प्रसिद्ध है।

छिलछिला वन्यजीव अभयारण्य-:

·
यह वन्यजीव अभयारण्य
हरियाणा के कुरुक्षेत्र में लगभग
29 किमी में विस्तृत है।

·
यह अभयारण्य शीतकालीन
पक्षियों को आकर्षित करता है। पर्यावरण की दृष्टि से इसे संवेदनशील क्षेत्र घोषित
किया गया है।

Leave a Comment